लिंग जांच का प्रभाव, बच्चियों का अभाव जन अभियान

नया सवेरा संस्था, विराटनगर द्वारा जनसहयोग के सहयोग से जयपुर व अलवर जिलों में पीसीपीएनडीटी कानून की पालना हेतु सन 2010 से लिंग जांच का प्रभाव, बच्चियों का अभाव जन अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के तहत संस्था द्वारा जयपुर जिले के विराटनगर व अलवर जिले के थानागाजी ब्लॉकों में सतत रूप से कार्य किया जा रहा है। संस्था द्वारा लोगो को लिंग जांच से समाज पर पडने वाले प्रभाव के बारे में जागरूक करने हेतु विभिन्न तरह के लोक जागृति कार्यक्रम चलाये जा रहे है। इन कार्यक्रमों के आयोजनो का मुख्य उद्देश्य लोगों को लिंग जांच से होने वाले कुप्रभावों के बारे में जानकारी देकर उनमे समझ बनाने का प्रयास किया जा रहा है साथ ही संस्था कार्यकर्ताओं द्वारा लोगो को गांवो में जाकर वहां के लडका-लडकी की लिंगानुपात को दर्शाया जाता है। इसके अलावा संस्था द्वारा डॉक्टरों को कानून की पालना करवाने हेतु नियमित तौर पर सोनोग्राफी विजिट की जाती रही है। संस्था द्वारा सोनोग्राफी विजिट में कई सोनोग्राफी केन्द्राे को कानून की पालना ना करने पर प्रशासन के सहयोग से सील व सीज भी करवाया है। इन सब कार्यों में सहयोग हेतु संस्था द्वारा जिले व ब्लॉक स्तर पर जिला समर्थन समूह व समर्थन समूह तैयार किये गये है। ये समूह संस्था द्वारा जिला व ब्लॉक स्तर की कानून की पालना करवाने में एक दबाव समूह के रूप में कार्य करते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »